जब मंत्री के भांजे को वेंटिलेटर-बेड नहीं मिला तब जनता देख ले जमीनी हकीकत क्या है!

हरक सिंह रावत,ऊर्जा मंत्री
TheNewsAdda

देहरादून-

उत्तराखंड पर कोरोना का कहर टूट रहा है और सीएम के अधीन हेल्थ महकमे के इंतजामों के हवाई दावों की हकीकत खुद सरकार में बैठे मंत्री दिखा रहे हैं. तीरथ सरकार रोज बैठकें कर आंकड़े जारी कर रही हैं कि किस अस्पताल में कितने बेड, वेंटिलेटर और आईसीयू बेड खाली हैं. सरकार तो बाक़ायदा वेबसाइट लिंक और फोन नंबर जारी कर लोगों को घर बैठे तमाम जानकारी पहुँचाने का दम भर रही है. लेकिन इधर तीरथ सरकार के क़द्दावर मंत्री डॉ हरक सिंह रावत सूबे के स्वास्थ्य महकमे के बीमार होने का एक्सरे पेश कर रहे हैं. दरअसल कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत तमाम कोशिशों के बावजूद अपने कोरोना पॉज़ीटिव भांजे के लिये वेंटिलेटर और आईसीयू बेड का इंतजाम नहीं करा पाये.

प्रतीकात्मक चित्र

खुद वन और आयुष मंत्री डॉ हरक सिंह रावत ने मीडिया के सामने इसे क़ुबूल करते हुए कहा कि खुद कोशिश करके भी वे अपनों ते लिये आईसीयू बेड और वेंटिलेटर की व्यवस्था नहीं कर पाये. हालाँकि बाद में मंत्री हरक के भांजे को जैसे तैसे प्राइवेट हॉस्पिटल में आईसीयू बेड मिल पाया.
अब मंत्रीजी का ये हाल है तो जनता बखूबी हालात की नज़ाकत भांपकर कोरोना से बचाव के हर संभव इंतजाम खुद करके चले. आखिर टीम तीरथ रोज पर्याप्त बेड, वेंटिलेटर, ऑक्सिजन और आईसीयू के दावे कर रहे लेकिन हकीकत का आईना खुद हरक सिंह रावत ने सरकार और जनता को दिखा दिया है.


TheNewsAdda
error: Content is protected !!