18 से 44 आयुवर्ग के टीकाकरण अभियान में तेजी लाने को देहरादून,हरिद्वार, ऊधमसिंहनगर और नैनीताल में प्राइवेट हॉस्पिटल की मदद ले रही सरकार, कारपोरेट से भी सहयोग

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत
TheNewsAdda

देहरादून: राज्य में 18-44 आयु वर्ग के व्यक्तियों के कोविड वैक्सीनेशन अभियान को अधिक व्यापक बनाने के लिए राज्य सरकार प्राईवेट हैल्थ सेक्टर का सहयोग भी ले रही है। इस विषय पर गुरुवार को 4 जिलों- हरिद्वार, नैनीताल, ऊधमसिंहनगर और देहरादून के निजी चिकित्सा संस्थानों के साथ स्वास्थ्य महानिदेशक द्वारा एक महत्वपूर्ण बैठक की गई। बैठक में निजी चिकित्सालयों के चिकित्सकों तथा उद्योग इकाईयों के कुल 100 प्रतिभागियों द्वारा भाग लिया गया। बैठक में प्रमुख रूप से निदेशक उद्योग संजय गुप्ता, अम्बुजा के राजन कपूर, सिडकुल, हीरो होण्डा, महिन्द्रा गुप के प्रतिनिधि तथा कुमायूं मण्डल के को-चेयरमैन राजीव घई ने हिस्सा लिया ।
बैठक के बारे में जानकारी देते स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ0 तृप्ति बहुगुणा ने बताया कि उत्तराखण्ड में 18-44 आयु वर्ग के लोगों की संख्या लगभग 50 लाख है तथा भारत सरकार से मिल रही वैक्सीन से टीकाकरण कार्यक्रम चलाने में अधिक समय लग रहा है। इसकी वजह वैक्सीन कोटा कम मिलना है। डॉ बहुगुणा ने कहा कि निजी चिकित्सालयों तथा प्रमुख उद्योग इकाईयों के बीच समन्वय स्थापित किए जाने को लेकर विचार-विमर्श किया गया।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक डॉ० सरोज नैथानी ने जानकारी कहा कि पूर्व में जब 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों का टीकाकरण कार्यक्रम चलाया गया था, तब कुल 131 निजी स्वास्थ्य इकाईयों द्वारा कोविड वैक्सीनेशन कराया जा रहा था। आज 18-44 आयु वर्ग के व्यक्तियों के टीकाकरण का कार्यक्रम 4 निजी स्वास्थ्य इकाईयों में किया जा रहा है तथा 27 निजी चिकित्सालयों द्वारा वैक्सीन क्रय करने का कार्य आरम्भ कर दिया है ।
डॉ० नैथानी के अनुसार इस बात पर विशेष जोर दिया गया कि प्रमुख उद्योग इकाईयां निजी स्वास्थ्य संस्थानों में अपने कर्मचारियों एवं उनके आश्रितों को कोविड टीकाकरण के लिए प्रेरित करें, जिससे यथासमय टीकाकरण का कार्य पूर्ण हो सके।
बैठक में उद्योग इकाईयों द्वारा यह सुझाव दिया गया कि राज्य सरकार निजी अस्पतालों में कोविड टीकाकरण के लिए यूजर्स चार्ज को भी निर्धारित कर लें। दरअसल भारत सरकार द्वारा निजी चिकित्सा इकाईयों में कोविड टीकाकरण की एक डोज की कीमत 900 रु निर्धारित की गयी है तथा चिकित्सालय द्वारा उद्योग इकाईयों के कार्यस्थल में जाकर टीकाकरण कराने पर यूजर्स चार्जेज़ भी तय किया है। परन्तु यूजर्स जार्च की धनराशि निर्धारित नहीं की गयी है। उद्योग इकाईयों द्वारा दिए गए सुझावों के अनुसार गुरुग्राम में यूजर्स चार्ज 250 रु प्रति डोज निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार उत्तराखण्ड में भी यूजर्स चार्ज निर्धारित किया जाना उचित होगा।
इस महत्वपूर्ण बैठक में राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ० कुलदीप मर्तोलिया, यू०एन०डी०पी० एवं डब्ल्यू0एच0ओ0 के प्रतिनिधि सहित निजी अस्पताल, आई0एम0ए0 एवं आई0ए0पी0 के सदस्य तथा विभिन्न उद्योग संस्थानों के 40 प्रतिनिधियों ने भाग लिया ।


TheNewsAdda
error: Content is protected !!