तीसरी लहर से टक्कर: AIIMS निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा- तीसरी लहर को रोकना हमारे हाथ, बच्चोें के टीकाकरण पर दी ये अहम जानकारी

एम्स दिल्ली के पूर्व निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया/photo PTI
TheNewsAdda

दिल्ली: देश मे तीसरी लहर की चेतावनी को देखते हुए बच्चों के टीकाकरण को लेकर एम्स दिल्ली के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने महत्वपूर्ण बात कही है। डॉ गुलेरिया ने कहा बच्चों में कोरोना बीमारी बहुत हल्की होती है लिहाजा हमें सबसे पहले बुज़ुर्गों और पहले से कई बीमारियों से ग्रस्त मरीजों को टीका लगाना चाहिए। उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए फ़ाइजर वैक्सीन को FDA अप्रूवल मिल चुका है और वैक्सीन को भारत आने की इजाज़त भी दी जा चुकी है।
डॉ गुलेरिया ने कहा कि भारत बायोटेक को अप्रूवल मिलते ही 2-18 आयुवर्ग के बच्चोें को वैक्सीन लगना शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सारी प्रक्रिया से गुज़रते हुए उम्मीद है सितंबर-अक्तूबर तक बच्चोें के वैक्सीनेशन को लेकर हमारे पास टीके होंगे।
डॉ गुलेरिया ने कहा कि तीसरी लहर को रोकना हमारे हाथों में है। अगर हम कोविड एपरोप्रिएट बिहेवियर अपनाए और सारे नियमों का पालन करें तो वायरस को फैलने से रोक सकते हैं। उन्होंने कहा कि जहां भी कोरोना के मामले ज्यादा आएं वहाँ लॉकडाउन लगाया जाए और हरेक को वैक्सीन लगवानी चाहिए।
बच्चोें के लिए सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया जुलाई से नोवावैक्स का क्लिनिकल ट्रायल शुरू करेगा।


TheNewsAdda
error: Content is protected !!