धामी-गडकरी मुलाकात में दौड़ता दिखा दर्जनभर सड़क प्रोजेक्टों पर ‘डबल इंजन’: देहरादून को जाम के झाम से मुक्ति दिलाएगा रिंग रोड, ऑलवेदर रोड, नज़ीराबाद-अफजलगढ़ बाइपास, खटीमा-मझोला व सितारंगज-टनकपुर फ़ोर लेन और पिथौरागढ़-अस्कोट मार्ग पर मिली ये सौगात

TheNewsAdda

दिल्ली/देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय सङक परिवहन व राजमार्ग मंत्री श्री नीतिन गडकरी से मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री के साथ राज्य से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं पर चर्चा की। बैठक में केंद्रीय राज्य मंत्री सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय जनरल वी के सिंह, सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय में अवर सचिव अमित घोष और उत्तराखण्ड शासन में प्रमुख सचिव आर के सुधांशु सहित केंद्रीय मंत्रालय और राज्य सरकार के अधिकारी उपस्थित थे।

केंद्रीय मंत्री श्री नीतिन गडकरी ने उत्तराखण्ड की लाइफ लाइन कही जाने वाली ऑल वेदर रोड सड़क परियोजना के कार्यों में तत्काल तेजी लाने के निर्देश दिये। उल्लेखनीय है कि 889 किलोमीटर लम्बी और लगभग 12 हजार करोड़ रु की लागत से बन रही चार धाम सड़क परियोजना में मंत्रालय द्वारा 53 कार्यों में से वर्तमान तक 41 कार्य स्वीकृत किये गये हैं। वर्तमान तक 19 कार्य पूर्ण हो चुके हैं। 22 कार्यों में कार्य गतिमान है।

केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने मंत्रालय एवं राज्य सरकार के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये हैं कि ऑल वेदर सडक परियोजना के कार्य में किसी प्रकार की देरी बर्दाश्त नहीं होगी तथा आम जनमानस के आवागमन हेतु उक्त मार्ग को शीघ्र पूर्ण किया जाये।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के अनुरोध पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने देहरादून शहर को अत्यधिक यातायात एवं भीड़ से मुक्त कराने के लिए देहरादून रिंग रोड के निर्माण को लेकर फिजिबिल्टी सर्वे किये जाने की स्वीकृति दे दी है। साथ ही हाईवे के साथ लगी लगभग 1100 एकड़ भूमि पर लॉजिस्टिक पार्क, फल एवं सब्जी पार्क और आढ़त बाजार के लिए केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री को प्रस्ताव दिया है कि राज्य सरकार इसके लिए भूमि उपलब्ध कराए और निर्माण पर आने वाली समस्त धनराशि केन्द्र सरकार द्वारा वहन की जायेगी। रिंग रोड के निर्माण से देहरादून शहर में जाम और अव्यवस्थित आवागमन से राहत मिलेगी।

मुख्यमंत्री धामी के अनुरोध पर कुमाऊं और गढ़वाल के बीच दूरी एवं समय कम करने के लिए नजीबाबाद-अफजलगढ़ बाई पास (लम्बाई 42.50 किमी०) की स्वीकृति प्रदान की गयी। बाई पास बनने से कुमाऊं गढ़वाल के बीच की दूरी 20 किमी0 कम हो जायेगी तथा आवागमन में 45 मिनट की बचत होगी।

बैठक में मझौला से खटीमा चार लेन सड़क मार्ग की भी स्वीकृति दे दी गयी। इस मार्ग के निर्माण से उत्तर प्रदेश के पीलीभीत एवं बरेली जिले के लिए भारी वाहनों एवं आम जनमानस का आवागमन सुलभ एवं आरामदायक होगा। इसके अतिरिक्त सितारगंज से टनकरपुर मोटर मार्ग को भी चार लेन में परिवर्तित करने की स्वीकृति प्राप्त हुई। मार्ग निर्माण से जनपद चम्पावत एवं पिथौरागढ़ आवागमन करने में काफी समय की बचत के साथ साथ मार्ग सुविधाजनक होगा।

सीएम धामी की केन्द्रीय मंत्री गडकरी के साथ बैठक में पिथौरागढ से अस्कोट मोटर मार्ग (लगभग 47 किमी) भी ऑल वेदर परियोजना की तरह स्वीकृत किये जाने पर सहमति बनी। यह मार्ग बी०आर०ओ० द्वारा निर्मित किया जायेगा।

राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण में अधिग्रहित भूमि से ऊपर व नीचे यदि मार्ग निर्माण से भवनों एवं अन्य संरचनाओं में क्षति होती है तो उक्त क्षति की प्रतिपूर्ति भी भारत सरकार द्वारा किये जाने के लिये मुख्यमंत्री के अनुरोध पर केंद्रीय मंत्री द्वारा सहमति दी गई। इससे समस्त हिमालयी राज्यों को लाभ प्राप्त होगा।

बैठक में अप्रैल 2023 में देहरादून में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के सेमिनार का आयोजन किये जाने पर भी सहमति प्रदान की गयी। उक्त सेमिनार में पर्वतीय क्षेत्रों के लिये उच्च गुणवत्तायुक्त टनल मार्गों का निर्माण किये जाने पर विषय विशेषज्ञों द्वारा विचार विमर्श होगा। इस सेमिनार में देश एवं विदेश के लगभग एक हजार लोग प्रतिभाग करेंगे।


TheNewsAdda

TNA

जरूर देखें

10 Sep 2022 1.40 pm

TheNewsAddaDeaths after Spurious Liquor…

26 Feb 2022 10.31 am

TheNewsAddaहरिद्वार: चुनावी…

30 Jan 2022 10.13 am

TheNewsAddaदेहरादून: भाजपा…

error: Content is protected !!