धनदा का धमाका: पहाड़ के मेडिकल कॉलेजों में फैकल्टी को मैदान से 50% अतिरिक्त भत्ता, शासनादेश जारी 

TheNewsAdda

पर्वतीय जनपदों में मेडिकल फैकल्टी को मिलेगा 50 प्रतिशत अतिरिक्त भत्ता

विभागीय मंत्री के अनुमोदन के बाद शासन ने जारी किया शासनादेश

नियमित एवं संविदा दोनों प्रकार की फैकल्टी को मिलेगा अतिरिक्त भत्ते का लाभ

पहाड़ी जिलों में अब पटरी पर आएंगी स्वास्थ्य सेवाएं!

Uttarakhand News: उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में स्थापित राजकीय मेडिकल कॉलेजों में अब नियमित एवं संविदा पर तैनात फैकल्टी को वेतन के अतिरिक्त 50 प्रतिशत भत्ता दिया जायेगा। राज्य सरकार के इस निर्णय से जहां एक ओर पर्वतीय जनपदों के मेडिकल कॉलेजों को पर्याप्त फैकल्टी मिल पाएंगी, वहीं एक्सपर्ट डॉक्टर्स भी मेडिकल कॉलेजों में अपनी सेवाएं देने के लिए आसानी से उपलब्ध हो पाएंगे।

ज्ञात हो कि राज्य के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत इस मुहिम में काफी दिनों से लगे थे और अब शासनादेश जारी हो गया है। हेल्थ मिनिस्टर धनदा ने कहा है कि काफी प्रयासों के बावजूद पर्वतीय क्षेत्रों में स्थित मेडिकल कॉलेजों में प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर व असिस्टेन्ट प्रोफेसर अपनी सेवाएं देने के लिए उपलब्ध नहीं हो पा रहे थे।  इसका एक कारण कम वेतनमान एवं पर्याप्त सुविधाएं न मिल पाना भी सामने आया था।

इसको देखते हुए राज्य सरकार ने पर्वतीय क्षेत्रों में तैनात नियमित एवं संविदा दोनों ही श्रेणी के फैकल्टी को मेडिकल टीचर्स डेफिसेन्सी कम्पनसेटरी स्कीम (Medical Teachers Deficiency Compensatory Scheme) के अंतर्गत 50 प्रतिशत अतिरिक्त भत्ता देने का निर्णय लिया। 

डॉ रावत ने बताया कि वर्तमान में यह अतिरिक्त भत्ता पर्वतीय क्षेत्रों में स्थापित राजकीय मेडिकल कॉलेज, श्रीनगर तथा राजकीय मेडिकल कॉलेज, अल्मोड़ा में लागू होगा तथा भविष्य में पर्वतीय क्षेत्रों में स्थापित किये जाने वाले सभी राजकीय मेडिकल कॉलेजों में तैनात संकाय सदस्यों, प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर तथा असिस्टेन्ट प्रोफेसर को भी उक्त भत्ता देय होगा।

 उन्होंने बताया कि इस अतिरिक्त भत्ते के भुगतान हेतु एक कॉरपस फण्ड बनाया जायेगा जिसका संचालन संबंधित कॉलेज के प्राचार्य द्वारा किया जायेगा। संकाय सदस्यों को मिलने वाला 50 प्रतिशत अतिरिक्त भत्ता फैकल्टी के पे स्लिप पर अंकित नहीं होगा। 

स्वास्थ्य मंत्री डॉ रावत ने कहा कि काफी प्रयासों के बावजूद राजकीय मेडिकल कॉलेज, श्रीनगर तथा अल्मोड़ा में पर्याप्त फैकल्टी नहीं मिल पा रही थी लेकिन राज्य सरकार द्वारा 50 प्रतिशत अतिरिक्त भत्ते की स्वीकृति के बाद इस प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।


TheNewsAdda

TNA

जरूर देखें

01 Apr 2022 5.23 pm

TheNewsAddaदेहरादून/चंपावत:…

09 Oct 2022 4.29 am

TheNewsAdda मुख्यमंत्री…

07 Jun 2021 2.36 pm

TheNewsAdda देहरादून: अपने…

error: Content is protected !!